क्या आपमें भी है यह अदभुत शक्ति

क्या आपमें भी है यह अदभुत शक्ति

क्या आपमें भी है यह अदभुत शक्ति

बहुत बार हम अपने जीवन में एक ऐसे मोड़ पर आकर अटक जाते हैं। अक्सर इस मोड़ पर रास्ता या तो पूरी तरह बंद होता है या कई रास्तों में बंटा होता है। ऐसे वक्त अगर धैर्य और समझदारी से काम नहीं लिया जाए तो जिंदगी बर्बाद होते देर नहीं लगती और सही फैसला ले लें तो जिंदगी जन्नत बन जाती है।

ऐसे ही नाजुक मौकों पर आदमी की मानसिक दृढ़ता की परीक्षा होती है। उस थोड़े से समय में धैर्य रख कर काम करने से सब कुछ अपने-आप सही होता चला जाता है। साथ ही कुछ खास बातों का ध्यान रख कर आप इन उलझनों से बाहर भी आ सकते हैं। आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ छोटी-छोटी लेकिन महत्वपूर्ण बातों के बारे में…

अपने आस-पास के लोगों से सलाह लेना छोड़िए

यह बिल्कुल सही है कि कोई भी महत्वपूर्ण काम करने से पहले हमें अपने आस-पास के लोगों से सलाह ले लेनी चाहिए। लेकिन जरूरी नहीं है कि वो आपको सही मशविरा दे सकें। इसका कारण यह है कि वो हर चीज को उनकी अपनी नजरों से देखेंगे, ऐसे में उनकी राय आपकी लिए गलत भी हो सकती हैं।

बात-बात पर अपनी गलती मानना छोड़े

असफलता के दौर में हम हर चीज के लिए खुद को ही जिम्मेदार मानने लगते हैं, भले ही वो किसी और कारण से हो। अपने-आपको गलत मानने की यही आदत आपको नकारात्मक बना देती है और जल्दी ही आप अपनी हिम्मत खो बैठते हैं, नतीजा एक बार फिर आपको असफलता मिलती है।

दूसरों की खुशी से ज्यादा जरूरी है खुद की खुशी

हम लोग अपनी पूरी लाइफ दूसरों को खुश करने में लगा देते हैं, चाहे वो हमारे फैमिली मेम्बर्स हो, दोस्त हो, कलीग हो या फिर कोई और। खास तौर पर मुश्किल वक्त में दूसरों को खुश करने से ज्यादा जरूरी है कि आप अपनी खुशी को महत्व दें क्योंकि तभी आप अपना आत्मविश्वास हासिल कर पाएंगे, तभी आप ज्यादा बेहतर कर पाएंगे।

खुद के गुस्से को दूर करें

आदमी को बुरे वक्त में गुस्सा ज्यादा आता है लेकिन यही उसकी अनगिनत परेशानियों का कारण भी बनता है। बेहतर होगा कि जब तक आपका बुरा वक्त है, आप गुस्से से दूर रहें और हर उस चीज से भी बचें जो आपको गुस्सा होने पर मजबूर करती हैं।

पूर्वाग्रहों से बचें

किसी भी व्यक्ति, घटना अथवा चीज के बारे में पहले से कोई धारणा न बनाएं। वरन उसे स्वीकार करें। ध्यानपूर्वक उससे जुड़े सभी पहलुओं (चाहे वो अच्छे हो या बुरे हो) को पर विचार करें। फिर उसे अपनी आवश्यकतानुसार प्रयोग करें। यही बात आपको दूसरों में छिपी खूबियों को पहचानने में मदद करेगी।

बुरी यादों को दूर करें

हमारे अतीत से जुड़ी बुरी यादें ही वो पहली चीज हैं जो हमें कोई भी नई शुरुआत करने से रोकती हैं। इनसे छुटकारा पाने के लिए आप अपने जीवन की उन बातों को, उन क्षणों को ज्यादा से ज्यादा याद कीजिए जो सकारात्मक हैं, जिन्होंने आपको बुरे वक्त में सहारा दिया और आपको सिखाया कि कैसे मुसीबतों से लड़ा जाता है।

किसी भी चीज को न ले पर्सनली

किसी भी बात को पर्सनल लेना खराब आदत हो सकती है, खास तौर पर जब आपका बुरा वक्त चल रहा हो। ऐसे में आप अपने लक्ष्य से भटक जाते हैं और उन चीजों में उलझ जाते हैं जो आपकी मुसीबतों को और बढ़ाती है। बेहतर यही है कि अपने इमोशंस को कंट्रोल रखें और दूसरे की कही बातों को पर्सनल न लें।

अतीत या भविष्य पर नहीं आज और अभी पर ध्यान दें

कुछ लोग अपने अच्छे गुजरे वक्त को याद करना पसंद करते हैं तो कुछ भविष्य के सुनहरे सपने देखने में खोए रहते हैं। लेकिन ये वो चीजें नहीं है जो आपको चाहिए। कामयाब होने का एक ही नुस्खा है कि अतीत की गलतियों से बचें, भविष्य के लिए काम करें और आज क्या हो रहा है, इस पर सबसे ज्यादा ध्यान दें। यानि कि आप आज और अभी के लिए जिए, इसी पर फोकस हो जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Download e-Book
error: Content is protected !!