वृषभ राशिफल 2020

वृषभ राशिफल 2020

वृषभ राशिफल 2020

वृषभ राशिफल 2020 के अनुसार नया साल आपके लिए बहुत अच्छा रहने के संभावना हैं। आपकी वार्षिक राशिफल कहती है कि यह वर्ष आपके लिए नई सफलताएँ  व उपलब्धियाँ ले कर आएगी। वर्ष 2020 की शुरुआत में, आपकी राशि का स्वामी शुक्र आपकी राशि के भाग्य भाव में बैठा है, यह दर्शाता है कि यह वर्ष आपके लिए बहुत ही उज्ज्वल और समृद्ध वर्ष होने वाला है। वहीं पंचग्रही योग आपकी राशि से अष्टम भाव में महा योग बना रहा है, जिसका आप पर अच्छा प्रभाव पड़ेगा। आपकी राशि से सातवें भाव में मंगल का होना भी आपके लिए विवाहित जीवन और व्यवसाय में सफलता पाना 2020 में संभव कर रहा है।

वर्ष के शुरुआत में  भाग्य कारक शनि स्वयं के 12 वें स्थान पर है जो भाग्य को थोड़ा कमजोर कर रहे हैं जिससे आपके कुछ कार्य में अड़चने आ रही हों । शनि की ढ़ैय्या भी इस समय आप पर चल रही है। इस परिस्थिति में आपको थोड़ा धैर्य एवं विवेक से काम लेना चाहिए | २४ जनवरी से आपकी शनि की ढ़ैय्या समाप्त होगी और शनिदेव आपके भाग्य स्थान में विताजित होंगे जो की आपको सफलता एवं भग्योदय प्रदान करेंगे | और आना वाले समय से सुख और समृद्धि की भी उम्मीद कर सकते हैं |

वृषभ राशिफल 2020(Vrishabha Rashifal 2020) के अनुसार, वर्ष की शुरुआत में, गुरु अष्टम भाव में अष्टमेष होकर बैठा है, जो आपको अपने स्वास्थ्य की देखभाल करने का संकेत देता है। भले, आप इस समय अपने भोजन आदि का ध्यान न रख पाएं, किन्तु पेट से संबधित समस्याओं पर ध्यान जरूर दें | बढ़ता वजन भी आपके लिए परेशानी का सबब बन सकता है। हालाँकि, बृहस्पति की 9 वीं दृष्टि आपकी सुख भाव पर पड़ रही है, जिसके कारण आपके घर में सुख-सुविधाओं में वृद्धि के भी संकेत हैं। यदि आप लंबे समय से अपना घर खरीदने की योजना बना रहे हैं, यदि आप एक नया वाहन खरीदना चाहते हैं, तो आप इस समय इन इच्छाओं को पूरा कर सकते हैं। आप घर में सुख-सुविधाओं को बढ़ाने के लिए भी प्रयास कर सकते हैं। यदि आप पिछले कुछ दिनों से अपनी माँ के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हैं, तो इस समय आपको सुधार दिखाई देगा, जिससे आपको राहत मिलेगी।

30 मार्च को, गुरु भाग्य स्थान पर आ जाएगा जहां शनि पहले से ही भाग्य में है। आपके भाग्य में गुरु और शनि के संयोग से आपके लिए बहुत ही शुभ संयोग बन रहा है। वर्तमान में, आपकी राशि के लिए नकारात्मक स्थिति भी बन रही है, जो आपके लिए अपार सफलता के द्वार खोलेगी। शनि भी आपके कर्मभाव के स्वामी हैं। बृहस्पति को एक अच्छा सलाहकार माना जाता है, इसलिए शनि के साथ गुरु होने से आप जीवन के हर पहलू पर अच्छे सुझाव दे सकते हैं।

मई के दूसरे सप्ताह के मध्य तक समय आपके शुभ फल दायी है लेकिन उसके बाद सर्व प्रथम शनि और तत्प्श्चात गुरु क्रमश: 11 व 14 मई को वक्री हो रही हैं।  शनि और गुरु की उल्टी चाल के कारण आपको कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।  इस समय भाग्य का साथ भी आपको कम ही मिलेगा । । धन निवेश के मामले में कोई जोखिम न लें। खासकर शेयर बाजार में निवेश करने वाले निवेशकों को सतर्क रहना चाहिए। यदि आप इस समय एक नया सौदा करते हैं, तो आपको आवश्यक लाभ नहीं मिल सकेगा। इस समय ज्योतिषियों से सलाह लेने के बाद ही आगे बढ़ना आपके लिए सही रहेगा।

जून के अंत में, गुरु फिर से धनु राशि में आ जाएगा, इस समय आपको अपने रुके हुए कार्यों में  प्रगति मिलनी शुरू हो जाएगी |

सितंबर तक स्थिति मिलेजुले रहने की उम्मीद की जा सकती है। 13 सितंबर को बृहस्पति मार्गी हो जाएंगें, जिससे  आप खुद में एक सकारात्मक ऊर्जा महसूस करेंगे। आपको इस समय से भाग्य का भी पूरा सहयोग मिलेगा। कार्यों में सफलता मिल सकती है। लंबित कार्य भी पूरे होंगे |

23 सितंबर को राहु अपनी उच्च राशि (मूल त्रिकोण), यानी आपकी स्वयं की राशि में प्रवेश करेंगें, जिससे आपको अपने कौशल को निखारने में सहायता मिलेगी। इस समय, आप अपनी क्षमताओं को पहचान कर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकते हैं जिसके लिए आपको प्रशंसा और पुरस्कार दोनों मिल सकते हैं। आपको जमीन जायदाद जैसे संपत्ति का सुख भी मिल सकता है। विशेष रूप से पैतृक संपत्ति आपको मिल सकती है। राहु होने से आपको राजकीय सम्मान भी प्राप्त हो सकता है। जो लोग उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं या प्रतिष्ठित संस्थान से प्रोफेशनल डिग्री  करने की सोच रहे हैं, उन्हें भी सफलता मिलने के सम्पूर्ण आसार हैं ।

वहीं, केतु भी अपनी राशि बदलेंगे और आपकी राशि से सातवें भाव में होंगे। निजी जीवन में आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। केतु विवाहित जीवन को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है। आपके लिए अचानक एक रिश्ता बन जाएगा, और एक रिश्ता जो अचानक बना है, वह भी टूटने की कगार पर पहुंच सकता है।

सितंबर के अंत में, शनि गतिमान होगा, इसलिए भाग्य आपके साथ फिर से जुड़ जाएगा। काम में तेजी आएगी। अपनी कामकाजी व्यस्तता के कारण, आप अपने निजी जीवन पर थोड़ा कम ध्यान देने में सक्षम हो सकते हैं। हमारी सलाह है कि निजी और पेशेवर जीवन में जितना संभव हो संतुलन बनाए रखें।

नवंबर के अंत में जैसे ही गुरु मकर राशि में प्रवेश करता है; आपको अपमानित राज योग का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा। कुल मिलाकर, वृषभ राशि के लिए वार्षिक राशिफल 2020 के सुखद अंत का संकेत देता है।

वहीं, केतु भी अपनी राशि बदलेंगे और आपकी राशि से सातवें भाव में होंगे। निजी जीवन में आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। केतु विवाहित जीवन को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है। आपके लिए अचानक नए बन सकते है या बने बनाये रिश्ते टूटने की कगार पर पहुंच सकता है।

सितंबर के अंत में, शनि मार्गी हो जाएंगें, इसलिए भाग्य  फिर से आपके पक्ष में हो जाएगा। कार्यो  में सफलता व तेजी आएगी। अपनी कामकाजी व्यस्तता के कारण, आप अपने निजी जीवन पर थोड़ा कम ध्यान दे सकते हैं। हमारी सलाह है कि निजी और पेशेवर जीवन में जितना संभव हो संतुलन बनाए रखें।

नवंबर के उतर्राध में गुरु के मकर राशि में आते ही पुन: आपको नीच भंग राजयोग का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा। कुल मिलाकर, वृषभ राशि के लिए वार्षिक राशिफल 2020 के सुखद अंत का संकेत देता है।

2020 में प्रेम, करियर, स्वास्थ्य एवं आर्थिक समस्याओं के समाधान के लिये हिमानी अज्ञानी जी से परामर्श करें।

वार्षिक राशिफल 2020
error: Content is protected !!