वृश्चिक राशिफल 2020
वृश्चिक राशिफल 2020

वृश्चिक राशिफल 2020

वृश्चिक राशिफल 2020

वृश्चिक राशिफल 2020 के अनुसार यह वर्ष आपके लिए सुख और समृद्धि में वृद्धि का योग बना रहा है। कार्यक्षेत्र में भी, आपके सफलता की प्रबल आसार नज़र आ रहे हैं। वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल है, जो वर्ष कुंडली में स्वराशि में विराजित है।  मंगल का स्वराशि में होने से रूचक महायोग का निर्माण हो रहा है परिणाम स्वरुप कार्यक्षेत्र में उन्नति के योग बनते हैं। वाहन सुख प्राप्त होता दिख रहा है। राशि का स्वामी होने के कारण आप स्वास्थ्य की दृष्टि से भी इनसे लाभ प्राप्त कर सकते हैं। वृश्चिक राशि वालों के लिये वर्ष कुंडली 2020 के अनुसार, धन भाव में पंचग्रही योग का होना आपके व्यक्तित्व विकास के संकेत कर रहा है। भाग्य स्थान में चंद्रमा भाग्य के उन्नति नेतृत्व कर  रहे हैं। चंद्रमा पर मंगल की दृष्टि भी है, जो चंद्र-मंगल योग बना रहा है। इससे आपको अपनी इच्छाओं को पूरा करने में मदद मिल सकती है। हालाँकि, शनि की दृष्टि भी चंद्रमा पर पड़ रही है, जिसके कारण आप में  धैर्य की कमी हो सकती है। इससे बचने की कोशिश करें। वर्ष की प्रारंभ में, राहु भी अष्टम भाव में विराजमान हैं, जो इस वर्ष आपके लिए स्थान में बदलाव ला सकते हैं। इस वर्ष पुराने घर का नवीनीकरण भी किया जा सकता है। अपने स्वास्थ्य पर थोड़ा ध्यान देने की आवश्यकता होगी। केतु भी धनु राशि में और धन के स्थान पर विराजित होंगे। धन प्राप्ति के लिए समय अच्छा रहेगा। खासतौर पर अगर आपको लोन या कर्ज लेने की जरूरत है, तो आपको सफलता मिल सकती है।

वर्ष की आरंभ में, 24 जनवरी को, शनि का परिवर्तन हो रहा है जो कि आपकी राशि से सुख भाव के मालिक होकर पराक्रम में स्वराशिगत गोचर कर रहे हैं। परिणाम स्वरुप आपके पराक्रम की उन्नति के योग बनाते हैं। लेकिन यह स्थान छोटे भाई का स्थान भी है, इसलिए आप छोटे भाई-बहनों के भविष्य के बारे में चिंतित हो सकते हैं।

30 मार्च को, गुरु अपनी राशि परिवर्तन करेंगे और शनि के साथ मकर राशि में होंगे। गुरु आपकी राशि से पांचवें और धन भाव के  स्वामी  हैं। शनि के साथ विराजमान होने से यह आपकी राशि से पराक्रम स्थान में नीचभंग राजयोग बना रहे हैं।  यह योग आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण हो सकता है क्योंकि यहाँ आप अपने अंदर ऊर्जा का संचार करेंगे। गुरु की दृष्टि आपके भाग्य पर भी पड़ रही है, जिसके कारण आपको भाग्य का भी पूरा सहयोग मिलेगा। साथ ही, सप्तम भाव में गुरु की पंचम दृष्टि आपके पारिवारिक जीवन में मिठास लाएगी। जीवनसाथी का पूरा सहयोग मिलेगा। प्रेम प्रसंगों में भी आनंद मिलेगा। प्रेम विवाह के योग भी आपके लिए बन सकते हैं।

11 मई को शनि का वक्री होना आपके लिए थोड़ी परेशानी पैदा कर सकता है। भाग्य पर दृष्टि होने से आपके कार्यों में अचानक रुकावटें भी आ सकती हैं। आपके सम्मान, शिक्षा और बच्चों के स्थान पर मंगल की तीसरी दृष्टि पड़ने के कारण आपको नकारात्मक परिणाम भी मिल सकते हैं।

14 मई को, गुरु मकर राशि में वक्री हो रहे हैं, जिसके कारण आपको मिश्रित परिणाम मिलेंगे क्योंकि इस समय शुभ ग्रह बृहस्पति और क्रूर ग्रह शनि वक्री चल रहे होंगे। इस कारण से, कभी-कभी आप कार्यों में बहुत अधिक गति देख सकते हैं और कभी-कभी अचानक कार्य बिगड़ते हुए भी देखे जा सकते हैं। लेकिन आपका बृहस्पति जो ज्ञान का स्वामी है, वह आपको आगे बढ़ने की पूरी हिम्मत देगा ताकि आप अपने काम में आने वाली बाधाओं को कम कर सकें।

30 जून को, गुरु धनु राशि में वापस चला जाएंगे, जिसके बाद पिछले रुके हुए कार्यों से संबंधित प्रक्रियाएं, पैसे का लेनदेन आगे बढ़ेगा। परिवार के लोगों के साथ मधुरता बढ़ेगी। और घर के अंदर कुछ मांगलिक काम भी किए जाएंगे।

30 जून को, गुरु धनु राशि में वापस चला जाएंगे, जिसके बाद पिछले रुके हुए कार्यों से संबंधित प्रक्रियाएं, पैसे का लेनदेन आगे बढ़ेगा। परिवार के लोगों के साथ मधुरता बढ़ेगी। और घर के अंदर कुछ मांगलिक  कार्य भी होने की संभावना है।

13 सितंबर को, गुरु स्वराशि धनु में मार्गी हो जायेंगे, जिसके परिणाम से आपके लिए धन प्राप्ति के योग बनेंगे। शिक्षा के लिए भी शुभ समय शुरू होगा। रोग घर पर भी दृष्टि होगी, जिससे आपको बीमारियों से लड़ने की क्षमता में बढ़ोतरी होगी और आपको स्वास्थ्य में लाभ भी प्राप्त होगा। शत्रु भी आपसे प्रभावित हो सकते हैं।

23 सितंबर को राहु, आपकी राशि से सातवें भाव में आएंगे, जिसके कारण आपके दांपत्य जीवन में कड़वाहट आ सकती है  और आप जीवनसाथी के स्वास्थ्य को लेकर भी चिंतित रह सकते हैं। विशेषकर ऐसे लोग जिनके नए संबंध इस समय जुड़े हुए हैं, उन्हें अधिक संघर्ष करना पड़ सकता है। पारिवारिक विवाद भी हो सकते हैं। अपने जीवनसाथी पर भरोसा बना कर चलें। इस समय आप अच्छे ज्योतिषाचार्यों से सलह जरूर लें।

वहीं केतु भी आपकी राशि में प्रवेश कर रहे हैं , जो आपके आत्म-सम्मान को अत्यधिक बढ़ा सकते हैं। अधिक आत्मविश्वास भी समस्याओं का कारण बन सकती है। धैर्य से काम लें आपको सफलता जरूर मिलेगी। क्योंकि शनि, मंगल की राशि में हैं और केतु का फल अधिकांश मंगल के जैसे ही होता है।

29 सितंबर को जब शनि मार्गी होंगे, तो रुके हुए काम  बनने लगेंगें। छोटे भाई-बहनों से कोई खुशखबरी भी मिल सकती है। छोटी लेकिन सफलतादायक यात्राएँ भी हो सकती हैं।

20 नवंबर को, गुरु फिर से मकर राशि में आ जाएंगें, जिससे पुन: आपके कार्यों  एवं आपके पराक्रम में प्रगति होगी। किस्मत आपका साथ देने लगेगी और अपने बुद्धि का पूरा उपयोग कर के आपको मान-सम्मान की भी प्राप्ति होगी।

वृश्चिक राशि वालों के लिए वार्षिक राशिफल के अनुसार, यह साल आपको सफलता और समृद्धि देने वाला कहा जा सकता है। यद्यपि आप वर्ष के कुछ समय में कुछ उतार-चढ़ाव देखेंगे, लेकिन कुल मिलाकर, अगर आप इसे देखें, तो इसे आपके लिए उपलब्धियों से भरा वर्ष माना जाना चाहिए।

December 19, 2019

वृश्चिक राशिफल 2020

वार्षिक राशिफल 2020
error: Content is protected !!