capricorn in hindi 2020
मकर राशिफल 2020

मकर राशिफल 2020

मकर राशिफल 2020

शनि जो की मकर राशि के स्वामी  हैं  वो वर्ष 2020 के आरंभ में आपकी राशि के 12वें स्थान में विराजित रहेंगें। यह ये दर्शाता है की पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष के शुरुआत में भी आपके लिये फिजूल खर्ची के योग बन रहे हैं। मकर वर्ष कुंडली 2020 के अनुसार, आपकी राशि से 12वें स्थान पर पांच ग्रहों का एक साथ होना, आपके लिये कई समस्याएं उत्पन्न करने वाला हो सकता है। किन्तु  इसके अपने फायदे भी हैं यदि आप व्यवसाय करते हैं तो आपको इस समय विदेशों के साथ अपने व्यापार को बढ़ाने का मौका मिलेगा। आयात-निर्यात के क्षेत्र में आपको सफलता मिलने के आसार है। विदेश यात्रा या जन्मस्थान से दूर जाने के भी योग बनते दिख रहे हैं। Makar Rashifal 2020(मकर राशिफल 2020) में मंगल, लाभ स्थान में उपस्थित होंगे, जो आपको हर समस्या से लड़ने की शक्ति प्रदान करेंगे। इस वर्ष आपकी राशि पर शनि की साढ़ेसाती का पहला चरण समाप्त होगा। जिससे आपको काफी आराम मिल सकता है।

24 जनवरी को, वर्ष राशिफल 2020 में शनि राशि परिवर्तन कर आपकी ही राशि में प्रवेश कर जाएंगें। स्वराशि के शनि की उपस्थिति आपके लिये शनि का शश महायोग बनाएगी। जिससे आपकी कार्यक्षेत्र में बहुत अच्छा बदलाव देखने को मिलेगा।

30 मार्च को, गुरु अपनी राशि बदलकर आपकी राशि में आ जाएंगें। जो कि बृहस्पति की नीच राशि भी है।  नीच राशि का गुरु शुभ नहीं माना जाता है, परन्तु आपकी राशि में पहले से ही शनि विराजमान हैं जो कि स्वराशि के हैं। इनके साथ बृहस्पति  का गोचर करना नीचभंग राजयोग बनाता है। इसका लाभ आपको आपकी शारीरिक क्षमताओं में, आपकी योजनाओं में, धन में, गरिमा में, रिश्तेदारों में आपकी रूतबा बढ़ाने में मदद करेगा। आप उनमें सकारात्मक बदलाव देखेंगे।

11 मई को, शनि आपकी ही राशि में वक्री हो रहे हैं , जिसका प्रभाव आपको दिखाई देगा। इसके परिणाम स्वरुप आपका आपके कार्यक्षेत्र में रुची कम हो सकती है। आपके कार्यक्षेत्र में कुछ बदलाव हो सकते हैं, जैसे कि स्थानांतरण। क्योंकि Makar Rashifal 2020(मकर राशिफल 2020) के अनुसार, आपकी कुंडली में स्थान परिवर्तन का योग भी बन सकता है। इस समय आपको अपने शत्रुओं से सावधान रहने की आवश्यकता है।

गुरु 14 मई को वक्री हो जाएंगें। वक्र के बाद, गुरु का प्रभाव हर क्षेत्र में पड़ने लगता है, जो आपके काम की गति को धीमा कर देता है। लेकिन आपको कार्यक्षेत्र  के अलावा विभिन्न क्षेत्रों में लाभ लाभ दिखना शुरु हो जाता है।

30 जून को गुरु आपकी राशि से पुन: 12वें स्थान में चले जाएंगें। जिसके परनाम से जो काम आप कुछ समय से नहीं कर पा रहे थे, उसे आपको  फिर से करने का अवसर प्राप्त होगा। पंचम दृष्टि घर के स्थान पर होने से नये घर के योग भी बन सकते हैं।

13 सितंबर को गुरु के मार्गी होने के कारण भविष्य के लिए आपकी योजनाएं बननी शुरू हो जाएंगी। आप में एक नया आत्मविश्वास भी पैदा होगा।

23 सितंबर को राहु आपकी राशि से पांचवें स्थान पर स्थित होंगे। पांचवें स्थान पर राहु का होना, आपको थोड़ा परेशान और भ्रमित कर सकता है। राहु को वृषभ राशि में होना उत्तम का माना जाता है। इसके उच्च प्रभाव से आपके आपके मान सम्मान में भी वृद्धि हो सकती है। लेकिन यह सम्मान पाने के लिए आपको कठिन मेहनत करनी होगी। वर्ष 2020 राहु के प्रभाव से शिक्षा और बच्चों के लिए अच्छा रहने वाला है। खासकर जो महिलाएं बच्चों की योजना बना रही हैं, उन्हें उनका विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। नियमित रूप से संतान गोपाल मंत्र  का जाप जरूर करना चाहिए। ताकि आने वाली संतान गुणवान और स्वस्थ हों। आप ज्योतिषियों से भी सलाह ले सकते हैं।

केतु भी इस वर्ष राशि परिवर्तन करेंगें। लेकिन वर्ष की शुरुआत में, आपकी राशि से 12वें स्थान पर चार ग्रहों के साथ स्थित होंगे। जिसके कारण आप में आस्था के प्रति विश्वास की भावना समय-समय पर बहुत मजबूत होगी और कभी-कभी नास्तिकता भी बढ़ सकती है, लेकिन केतु की 12 वीं स्थिति कुछ मायनों में आपके लिए अच्छी रहने वाली है। केतु के परिवर्तन के बाद, केतु आपके लाभ स्थान पर आ जाएगें। लाभ स्थान का केतु शुभ माना जाता है और यह अपनी उच्च राशि वृश्चिक में में आ जाएगें। जिसका परिणाम आपको मंगल के समान मिलेगा।

मकर राशि की वर्ष कुंडली 2020 के अनुसार , 29 सितंबर को शनि मार्गी हो जाएंगें। जो आपको कार्यक्षेत्र के लिए शारीरिक शक्ति, बल बढ़ाने में आपके सहायक होंगे । धन प्राप्ति के भी अच्छे योग बनते दिख रहे हैं । इस समय में आप शेयर मार्केटिंग आदि योजनाओं में निवेश कर सकते हैं। लाभ प्राप्ति के प्रबल योग हैं।

20 नवंबर को, गुरु के राशि परिवर्तन कर फिर से मकर राशि में आने के बाद, आप अपनी पूरी ऊर्जा के साथ अपना काम करने में लग जाएंगें। इसके साथ ही अतीत में देखा गया सपना भी साकार होता दिखाई देगा।

वर्ष की शुरुआत में, राहु आपकी राशि से छठे स्थान में पर विराजित होंगे, जो आपके लिए कुछ समस्याएं उत्पन्न कर सकते हैं। विशेष रूप से शारीरिक कष्ट में वृद्धि हो सकती है। कमर में दर्द की समस्या, जोड़ों के दर्द की समस्या, सर्वाइकल उत्पन्न कर सकते हैं। इस समय शत्रु भी बढ़ सकते हैं। छठे स्थान पर राहु होने से आप प्रतियोगिता के लिए अत्यधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। खासतौर पर वे छात्र जो विदेश में पढ़ रहे हैं, उन्हें थोड़ा सचेत होने की आवश्यकता होगी। बुरी संगति से बचें ।

December 19, 2019
मकर राशिफल 2020

मकर राशिफल 2020

वार्षिक राशिफल 2020
error: Content is protected !!